Jal Bachao In Hindi Essay Writing

पानी की बचत व जल संरक्षण के तरीके, उपाय, कविता | Save Water upay, Poem slogans in hindi

जल ही जीवन है, ये हमेशा हम सुनते है, लेकिन मानते कितना है? क्या हम जल की रक्षा जीवन की तरह करते है? क्या हम उसे भी उतनी तब्बजो देते है, जितना किसी इन्सान की जिंदगी को? इन सवाल के जबाब सबके पास ना में ही होंगे. हम सब जानते है कि पानी के बिना हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते. लेकिन फिर भी हम इसे फिजूल में खर्च कर देते है. हमारी प्रथ्वी के 70% भाग जल से डूबा हुआ है लेकिन 1-2 % ही इसमें से उपयोग करने लायक है. हमें जल को बहुत सहेज के रखने की जरुरत है, नहीं तो वह दिन दूर नहीं जब हम एक एक बूँद को तरसेंगे. पानी एक ऐसा धन है जिसे हम सहेज कर रखेंगे तभी हमारी आने वाली पीढ़ी उसे उपयोग कर पायेगी. जल है तो कल है.

 

पानी की बर्बादी को रोकने के लिए हम अपने घर से ही शुरुआत कर सकते है. बस थोड़ीसी समझदारी और एक उठाये हुए कदम के साथ हम अपनी आने वाली पीढ़ी को यह तोहफा दे सकते है.

पानी की बचत कैसे करे और बचाने के तरीके (How to Save water in Hindi)

  1. नल को खुला ना छोड़े – आप जब भी ब्रश करें, दाढ़ी बनायें, सिंक में बर्तन धोएं, तो जरूरत ना होने पर नल बंद रखे, बेकार का पानी ना बहायें. ऐसा करने से हम 6 लीटर हर एक min में पानी बचा सकते है. नहाते समय भी बाल्टी से पानी को व्यर्थ ना बहायें.
  2. नहाने के लिए शावर की जगह बाल्टी का उपयोग करें. अगर शावर उपयोग भी करें तो छोटे वाले लगायें, जिससे पानी की कम खपत हो. शावर का उपयोग ना करके हम 40-45 लीटर पानी हर 1 min में बचा सकते है.
  3. जहाँ कहीं भी नल लीक करे, उसे तुरंत ठीक करवाएं. नहीं तो उसके नीचे बाल्टी या कटोरा रखें और फिर उस पानी का प्रयोग करें.
  4. लो पॉवर वाली वाशिंग मशीन उपयोग करें, इससे पानी की बचत होती है एवं बिजली भी कम लगती है. वाशिंग मशीन में रोज थोड़े थोड़े कपड़े धोने की जगह इक्कठे करके धोएं.
  5. पोधों में पानी पाइप की जगह वाटर कैन से डालें, इससे बहुत कम पानी उपयोग होता है. पाइप से 1 घंटे में 1000 लीटर पानी तक पानी उपयोग हो जाता है, जो पूरी तरह से पानी का नुकसान है. हो सके तो कपड़े धोने वाले पानी को पोधों पर डालें.
  6. घर में पानी का मीटर लगवाएं. आप जितना पानी उपयोग करेंगे, उसके हिसाब से उसका बिल आएगा. बिल देते समय आपको समझ आएगा कि आपने कितना बर्बाद किया है और फिर आगे से ध्यान रखेंगे.
  7. गीजर से गर्म पानी निकालते समय उसमें पहले ठंडा पानी आता है जिसे हम फेंक देते है. ऐसा नहीं करें, ठन्डे पानी को अलग बाल्टी में भरें, फिर गर्म पानी को दूसरी में. इस पानी को आप दूसरी जगह उपयोग कर सकते है.
  8. फ्लश में भी बहुत अधिक पानी उपयोग होता है, इसलिए ऐसा फ्लश लगवाएं जिसमें पानी का फ़ोर्स कम हो.
  9. नालियां हमेशा साफ रखें, क्यूंकि जब ये चोक हो जाती है तो साफ करने के लिए बहुत पानी को बहाया जाता है. इसलिए पहले से ही साफ सफाई रखें.
  10. पेड़ पोधे लगायें जिससे अच्छी बारिश हो और नदी नाले भर जाएँ.

पानी को बचाने की जरुरत क्यों है?

जल की रक्षा हमेशा करें, और ऐसा करने के लिए दूसरों को भी प्रेरित करें. हम करेंगे तभी हमारे छोटे भी हमसे सीखेंगे. रास्ते में कभी भी कही पर कोई नल खुला हुआ हो, तो उसे बंद करें, पाइप लाइन फूटी हो तो उसकी complaint करें. आजकल तो हमारे घर में पानी आ जाता है, पानी की कीमत वो लोग समझते है जो 4-5 km पैदल चलकर पानी भरने जाते है. 1-2 बाल्टी के लिए उन्हें घंटो लाइन में खड़े होना पड़ता है. हम उनकी मदद सीधे तौर पर तो नहीं कर सकते. लेकिन कम से कम पानी बचायें, जिससे सही हाथों तक ये पहुँच सके. आज से ही यह शुरुआत अपने घर से करे, यह एक सामाजिक जिम्मेदारी है जो हम सब को साथ मिल कर उठानी चाहिए.

==============

पानी बचाओ कविता  (Save Water Hindi Poem)

माना पानी का नही हैं मोल
पर जीवन के लिए हैं ये अनमोल
साँसे जहाँ चलती हैं
वहीँ पानी से पनपती हैं
यह महज़ एक कविता नहीं
जीवन की एक सीख हैं
पानी बचाओ पानी बचाओ
वर्ना दुखदाई अंत हैं
जल की कोई सीमा नहीं
पर पिने को वो योग्य नहीं
जो जल जीवन बनाता हैं
वो हर जगह नहीं मिल पाता हैं
करो इसका मोल अभी
वर्ना पछताओगे
पानी बचालो आज सभी
वर्ना कठिन समस्या पाओगे  

===================

अन्य पढ़े:

Vibhuti

विभूति दीपावली वेबसाइट की एक अच्छी लेखिका है| जिनकी विशेष रूचि मनोरंजन, सेहत और सुन्दरता के बारे मे लिखने मे है| परन्तु साईट के लिए वे सभी विषयों मे लिखती है|

Latest posts by Vibhuti (see all)

जल का महत्व


जल, मानव जाति के लिए प्रकृति के अनमोल उपहारों में से एक है। मानव शरीर में दो तिहाई मात्रा पानी की है। इससे स्पष्ट है कि जल का हमारे जीवन में कितना महत्व है। पृथ्वी के हर जीव के लिए जल की बहुत आवश्यकता होती है। पेड़-पौधों के लिए भी जल की बहुत आवश्यकता होती है। जल तरल, ठोस एवं गैस रूप में विद्यमान होता है। 


जल जीवन का सबसे आवश्यक घटक है और जीविका के लिए महत्वपूर्ण है। यह समृद्र, नदी, तालाब, पोखर, कुआं, नहर इत्यादि में पाया जाता है। हमारे दैनिक जीवन में जल का बहुत महत्व है। हमारा जीवन तो इसी पर निर्भर है। यह पाचन कार्य करने के लिए शरीर में मदद करता है और हमारे शरीर के तापमान को नियंत्रित करता है। यह हमारी धरती के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यह हमारे जीवन की गुणवत्ता निर्धारित करने में महत्वपूर्ण घटक है और एक सार्वभौमिक विलायक है।

जल के बिना हमारे जीवन की कल्पना करना भी कठिन है। परन्तु विडंबना है कि जल के महत्व को समझते हुए भी मनुष्य ने इसे दूषित करना प्रांरभ कर दिया है। जल-प्रदूषण और जल की बर्बादी के परिणामस्वरूप अब हमारे पीने के लिए ही शुद्ध जल उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। जिसके दूरगामी परिणाम अच्छे नहीं हैं। यह भविष्य के लिए कदापि उचित नहीं है। जल जीवन के अमृत के रूप में जाना जाता है। इसलिए जीवन को बचाने के लिए पानी का संरक्षण अति आवश्यक है। 


0 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *